150+ Gussa Shayari in Hindi | गुस्सा शायरी

Gussa Shayari: हम आपके लिए लेके आए है hurt नाराज गुस्सा शायरी कुछ गलती हो गई हो बेवजह गुस्सा मत हो शायरी। इस तरह की प्यार में गुस्से वाली पर शायरी आपके काम आसकता है। 

इस तरह की गुस्सा फनी शायरी या क्रोध शायरी आपके मोहब्बत में शक और गुस्सा शायरी फॉर गर्लफ्रेंड नाराज हो गई हो आप उसे भी इससे मना सकते हो। 

मेरी प्यारी मोहब्बत में सक मत कर हमारा प्यार बिलकुल सच्चा है। आप इस तरह की शायरी पढ़ सकते है।

Gussa Shayari

gussa shayari

हमारा रूठना-मनाना तो लगा रहता है,
हमारी आँखों में प्यार,
उनके चेहरे पर गुस्सा तो सदा रहता है।

itna gussa shayari

क्यो गुस्से में समझ लेती हूँ मै तुझे इतना गलत,
पर तू है नही इतना भी बुरा,
सुनकर तेरी आवाज बदल जाता है
मेरा गुस्सा भी प्यार में ।

gussa shayari in hindi

तुम्हारे चेहरे पर गुस्सा देख कर ना जाने क्यूँ,
तुम पर और भी प्यार आने लगता हैं।

gussa wali shayari

ज़िन्दगी को कुछ ऐसे जी जाना है,
धोखा-खाना और गुस्सा पी जाना है।

gussa matlabi baat nahi karne ki shayari image

कोई और तकलीफ दे तो गुस्सा बहुत आता है,
पर जब कोई अपना तकलीफ दे, तो रोना बहुत आता है।

Itna Gussa Shayari

sad itna gussa shayari

मोहब्बत मे शक और गुस्सा वही करता है,
जो आपको खुद से भी ज्यादा प्यार करता है।

gussa shayari hindi

खत्म हो नाराज़गी हम पर,
हो जाए प्यार की बारिश..
गुस्सा उतर जाए उनका,
करते हैं हम खुदा से ये गुजारिश।

love gussa shayari

बस यही सोचकर की, क्या कहेगा ये जमाना..
गुस्से को काबू में करके, पड़ता है मुझे मुस्कुराना..!

bewajah gussa shayari

मुझे तेरे गुस्से से डर नहीं लगता,
तेरा गुस्सा तो मैं झेल लेती हूँ,
हाँ, दिल तो दुखता है बहुत तेरे गुस्से से,
लेकिन तुझे खोने के डर से चुप हो जाती हूँ।

best friend se gussa shayari

ना जाने क्यूँ नजर लगी जमाने की,
अब वजह भी मिलती नहीं मुस्कुराने की,
तुम्हारा गुस्सा होना तो जायज़ था,
लेकिन हमारी आदत छूट गई तुम्हे मनाने की।

Gussa Shayari In Hindi

best friend se gussa shayari (2)

उसकी यही अदा मुझको बेहद भाती है,
नाराज़ वो मुझसे हो जाती है,
और गुस्सा सबको दिखाती है।

गुस्से वाली शायरी

ऊपर से गुस्सा दिल से प्यार करते हो,
नज़रें चुराते हो दिल बेक़रार करते हो,
लाख़ छुपाओ दुनिया से पर मुझे ख़बर है,
तुम ख़ुद से भी ज्यादा मुझे प्यार करते हो।

गुस्से पर शायरी

नाराज क्यूँ होते हो, किस बात पे हो रूठे,
अच्छा चलो ये माना, तुम सच्चे और हम झूठे,
कब तक छुपाओगे तुम हमसे हो प्यार करते,
गुस्से का है बहाना और दिल से हम पे हो मरते।

गुस्सा शायरी

गुस्सा ना करो इतना कि वो शिकायत बन जाये,
रहो ना दूर इतना की हम अकेले हो जाये,
दुनिया का एक रिवाज हमे भी पता है,
प्यार ना करो किसी से इतना की वो जरुरत बन जाये।

hurt गुस्सा शायरी

जिन्हें गुस्सा आता है, वो लोग सच्चे होते हैं,
मैंने झूठों को अक्सर मुस्कुराते हुए देखा है।

Gussa Wali Shayari

नाराज गुस्सा शायरी

गुस्से में भी शब्दों का चुनाव ऐसा होना चाहिए,
की कल गुस्सा उतरे तो खुद की नजरों में शर्मिंदा ना होना पड़े।

गुस्सा मत हो शायरी

प्यार इतना कि मुझे पाने को हर वक्त,
खुदा से इबादत किया करती थी,
और गुस्सा इतना कि मुझसे लिपटकर,
मेरी शिकायत किया करती थी।

बेवजह गुस्सा शायरी

प्यार लफ़्ज़ों में नहीं होता, दिल में होता है,
और गुस्सा दिल मे नहीं, लफ़्ज़ों में होता है।

साथ छोड़ना बहुत मुश्किल है,
तुझसे नाता तोड़ना बहुत मुश्किल है,
तू जान है मेरे दिल की,
तुझसे रूठ जाना बहुत मुश्किल है।

बेपनाह मोहब्बत का एक ही उसूल है,
मिले या ना मिले, तू हर हाल मे कबूल है।

Gussa Matlabi Baat Nahi Karne Ki Shayari Image

किया होता अपनों से मोहब्बत,
तो यु आपकी हसीं गयी नही होती,
सोच कर तो देखा होता हमारे बारे में कभी,
आपके जीवन में कभी खुशियों की कमी नही होती।

मुझे तुम इस कदर भा चुके हो,
की मेरे दिल के बहुत करीब आ चुके हो,
तुमने मुझे नही छोड़ा, बल्कि,
मेरी रूह से दूर जा चुके हो।

तुम जब गुस्सा हो जाते हो तो ऐसा लगता है,
जैसे मनाते-मनाते पूरी ज़िन्दगी गुजर जाएगी।

जब इंसान का विनाश
उसके नजदीक आ जाता है,
तो पहले उसका विवेक मरता है,
फिर उसे गुस्सा आ जाता है।

मैं बदला नहीं, बस आजकल अंदाज सही है,
ख़ामोश रहता हूँ पर गुस्से का मिजाज वही है।

Love Gussa Shayari

जो समस्या का हल ढूंढते है, वो क्रोध नही करते है,
और जो समस्या का हल नहीं ढूंढते है, वो क्रोध करते है।

रूठ जाओ कितना भी पर तुम्हे मना लेंगे,
दूर जाओ कितना भी पर तुम्हे बुला लेंगे,
दिल तो आखिर दिल हैं, कोई सागर की रेत नहीं,
जो लिख के नाम आपका मिटा देंगे।

उसका गुस्सा और मेरा प्यार एक जैसा है,
क्यूंकि ना तो उसका गुस्सा कम होता है और ना मेरा प्यार।

किसी की चंद गलतियों पर न कीजिये कोई फैसला,
बेशक कुछ कमियाँ होगी, पर खूबियाँ भी तो होंगी।

मेरा गुस्सा वहां पर ख़त्म हो जाता है,
जहां प्यार से वो पगली बोलती है,
“अच्छा बाबा Sorry”!

Bewajah Gussa Shayari

तुम्हे गुस्सा करने का हक़ है मुझ पर नाराजगी में,
ये मत भूल जाना कि हम बहुत प्यार करते है तुमसे।

गुस्सा बहुत आता है जब काबू में नहीं होता है,
जब नुकसान होता है तो दुख बहुत होता है।

लड़ते है दोस्तों से पर जीतना नहीं चाहते,
दोस्तों से कभी बिछड़ना नहीं चाहते,
जानते है कि जुदा करेगी जिंदगी एक दिन हमें,
हकीकत में भी हम वह दिन कभी देखना नहीं चाहते।

दो-चार रोज को मौन भला, महीनों मातम में न बदल देना,
गले लगा लेना मुझको, या हो सके तो गला दबा देना मेरा।

कुछ पल का गुस्सा रोककर सब सही करना,
या कुछ पल के गुस्से के लिए,
सब ख़तम करना, यह सही नहीं।

Best Friend Se Gussa Shayar

तुझे गुस्सा दिलाना एक साजिश हैं मेरी
तेरा रूठ कर मुझपर यूँ हक़ जताना, अच्छा लगता हैं।

किस बात पर गुस्सा हो,
ये पूछने वाला अगर हो
तो मुस्कान कभी नहीं जाती।

आपको छोड़ना बहुत मुश्किल है,
आपके साथ संबंध तोड़ना बहुत मुश्किल है,
आप इस दिल को जानते हैं,
आपसे नाराज़ होना बहुत मुश्किल है।

आपके प्यार की कदर तो कोई अजनबी भी करेगा,
लेकिन केवल आपका अपना ही,
आपके गुस्से की कद्र करेगा।

यह प्यार वाला गुस्सा भी कितना अजीब होता है,
दोनों ऑनलाइन रहेंगे, एक दूसरे की डीपी भी देखेंगे,
लेकिन मैसेज नही करेंगे, और दोनों मैसेज के इंतेज़ार करेंगे।

Hurt गुस्सा शायरी

तेरे बाद जो भी रिश्ता बनेगा, उसका नाम मजबूरी है,
छोड़ दो सब गुस्सा मेरी जान, क्या दूर होना इतना जरूरी है?

हम सच कहते है इसीलिए,
हम अपनी आँखों से ही कह देते है,
ज़ुबान खोलने की जरुरत हमें नहीं पड़ती।”

जो इंसान अपने आप को नहीं समझ सकते,
सबसे ज्यादा वही गुस्सा होते है।

मुझसे लड़ो-झगड़ो चाहे जितना भी,
लेकिन रिश्ता तोड़ मत देना,
मुझ पर गुस्सा करो चाहे कितना भी,
लेकिन हमें छोड़ मत देना।

गुस्सा तो बहुत है मुझे, उसके यूँ छोड़ के जाने की,
और उम्मीद भी उतनी है, फ़िर से उसके लौट आने की।

प्यार में गुस्से वाली शायरी

हर बात पर न यूँ हमें ग़ुस्सा करें हुज़ूर,
कुछ बद-मिज़ाज लोग भी हैं, जऱा देखा करें हुज़ूर।

किसी बुज़दिल की सूरत घर से बाहर निकलता है,
मेरा ग़ुस्सा किसी कमज़ोर के ऊपर निकलता है।

की तेरा गुस्सा मुझे बहुत पसंद है,
तभी तो तुझे गुस्सा दिलाती हूँ,
मैं तेरी होकर भी तेरी कमजोरी नहीं,
तेरी ताकत बनना चाहती हूँ।

जब भी आप हमसे गुस्सा हो जायँगे,
तो हम आप को हमारे हांथों की बनी चाय पिलायेंगे,
और जब हम गुस्सा होंगे, तो आप हमें आइसक्रीम खिलायंगे।

कभी कभी मुस्कुराहटो से ज़्यादा, गुस्सा अच्छा लगता है।
क्योंकि मुस्कराहट तो सबके पास होती है,
पर गुस्सा वही इंसान करता है,
जो सबसे ज़्यादा प्यार करता है।

कुछ अन्य शायरियां:

  1. Barish Shayari
  2. Desh Bhakti Shayari
  3. Yaad Shayari
  4. One Line Shayari
  5. Shayari on Smile